MSP क्या है? जिसके लिए किसान सड़को पर उतर रहे है, जानिए

किसान सड़को पर है, पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली की अलग अलग बॉर्डर पर MSP की गारंटी के लिए धरने पर है। 

सरकार मे प्रसाव दिया था कि मक्का, दाल और कपास को 5 साल तक MSP दरों पर खरीदा जायेगा।  

किसानो का ये कहना है कि MSP पर कानूनी गारंटी मिलने से कम कुछ भी मंजूर नही है।  

बता दें कि MSP की फूल फॉर्म Minimum Support Price है यानी कि वह न्युनतम दर जिसपर सरकारी एजेंसिया किसानो से फसल खरीदती है।  

आपको बता दें कि MSP फिल्हाल एक निति है कोई कानून नही, इसलिए किसान इसे एक लीगल कानून बनाने पर अड़े है।  

साथ ही किसान इसलिए भी परेशान है क्योंकि उनकी फसल की खरीद MSP पर होती भी नही है इसलिए उन्हे अपनी फसल MSP से कम क़ीमत पर बेचनी पड़ती है।  

MSP सबसे पहले 1960 के दशक मे लागू हुई थी जब देश में अनाज संकट आ गया था ऐसे मे पहली बार धान पर 1964-65 मे MSP लागू हुई थी। 

Elon Musk ने किया कारनामा, इंसान ने बिना छुए Mouse चलाया.!